याचिका पर हस्ताक्षर करें।आपकी आवाज मायने रखती है!

दुष्ट चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी को समाप्त करें

अगर चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) झूठ नहीं बोलती तो इस महामारी को रोका जा सकता था। फिर भी, जब से इसने चीन पर अधिकार किया है, तब से करोड़ों लोग इसके अंतहीन धोखे और क्रूरता से पीड़ित हैं। दानव सीसीपी ने चीन की प्राचीन भूमि को लूट लिया है, और अब इसका आतंक विश्व भर में फैल गया है, जिसने सभी को प्रभावित किया है। समय आ गया है कि हम इसके बुरे कामों के खिलाफ खड़े हों और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी को खत्म कर दें!

0

हस्ताक्षर किए

कुल गिनती हर 4 घंटे में ताज़ा (रीफ़्रेश) होगी

इस याचिका पर हस्ताक्षर करें

हम आपकी आवाज सरकारी अधिकारियों और अन्य संगठनों को सुनाएंगे।

  • इस याचिका पर हस्ताक्षर करके आप गोपनीयता नीति को स्वीकार करते हैं।

  • यह फ़ील्ड सत्यापन उद्देश्यों के लिए है और इसे अपरिवर्तित छोड़ दिया जाना चाहिए।

इस याचिका को साझा करें, संदेश फैलाएं!

हम सब मिलकर अंतर लाएंगे!

सीसीपी वायरस

सीसीपी झूठ बोलती है, लोग मरते हैं

“नियंत्रणीय” से “अंतर-मानव संचरण” तक, सीसीपी प्रचार मशीन को अपनी कथा को बदलने और कोविड-19 (सीसीपी वायरस) की गंभीरता को दुनिया में स्वीकार करने में महीनों लग गए। यह बहुत कम था, और बहुत देर से। प्रारंभिक जानकारी के छुपाने से वैश्विक महामारी आ गयी है, जिसमें 30 लाख से अधिक मृत्यु और अनगिनत पुष्ट मामले हैं।

बचाव या सावधनियाँ?

जबरन अलग करने (क्वारंटाइन) के तरीकों के कारण चीन में अनगिनत मानवीय त्रासदी हुई हैं। परिवारों को उनके घरों से बुरी तरह से अलग-थलग अलगाव केंद्रों में घसीटा गया था, संक्रमित परिवार जब अभी भी घरों के अंदर रह रहे थे, पुलिस द्वारा दरवाजों को वेल्ड कर दिया गया था, और चीनी नागरिक आश्चर्यचकित रह गए थे: कौन अधिक खतरनाक है? वायरस, या सीसीपी?

वैश्विक प्रकोप

सीसीपी वायरस के कारण 14 करोड़ से अधिक मामलों की पुष्टि हुई, और वैश्विक स्तर पर 30 लाख से अधिक लोग मारे गए। यह सब रोका जा सकता था अगर सीसीपी झूठ नहीं बोलती। क्या वे कभी झूठ बोलना बंद करेंगे? या हमें भरोसा करना बंद कर देना चाहिए?

वैश्विक घुसपैठ

सीसीपी साम्राज्यवाद

सीसीपी का एजेंडा दुनिया पर प्रभुत्व है। परिवहन बुनियादी ढांचे (“बेल्ट एवं रोड उपक्रम”) के निर्माण के लिए 68 देशों की सहायता करने की आड़ में, सीसीपी की योजना इन सभी देशों को ऋण में डालने की है, जबकि उनके संसाधनों, जैसे कि पृथ्वी की दुर्लभ धातुओं और खनिजों को ज़मानत के रूप में लेना। “चीनी विशेषताओं के साथ साम्राज्यवाद” को लागू करने के माध्यम से, यह क्षेत्रीय और वैश्विक नेतृत्व के लिए इच्छुक है।

वैश्विक सूचना हेरफेर

सीसीपी न केवल भौगोलिक शक्ति की लालसा रखती है, बल्कि इसका उद्देश्य विश्व में कम्युनिस्ट विचारधारा को प्रसारित करना भी है। व्यवस्थित रूप से, सीसीपी पश्चिम में आख्यानों का नियंत्रण ले रही है: मुख्यधारा की मीडिया, बड़ी तकनीकी कंपनियां, हॉलीवुड, खेल उद्योग, और राजनेता … हमने उन्हें बार-बार झुकते हुए देखा है, बीजिंग के पक्ष में अपना भाषण बदलते हुए। वैश्विक मानक शैतान द्वारा दूषित कर दिए गए।

बौद्धिक संपदा की चोरी

सीसीपी अपनी सैन्य और आर्थिक ताकत को आगे बढ़ाने के लिए 20 वर्षों से बौद्धिक संपदा की चोरी कर रही है। उदाहरण के लिए, हजार प्रतिभा कार्यक्रम (The Thousand Talents Program), विदेशी विद्वानों को आर्थिक जासूसी और बौद्धिक संपदा की चोरी में संलग्न होने के लिए प्रोत्साहित करता है। अनगिनत उदाहरणों में से एक के रूप में, एक विद्वान द्वारा चीन लौटने से पहले एक प्रयोगशाला से 300,000 दस्तावेज डाउनलोड करने का पता चला था।

धर्म और जातीय

नास्तिक, धर्म विरोधी और आस्था का दमन

साम्यवाद नास्तिकता पर आधारित है। यह लोगों को भगवान में विश्वास नहीं करने के लिए कहता है, और मानव नैतिकता पर हमला करता है। अपने शासन के दौरान सीसीपी ने अनगिनत मठों और मंदिरों को नष्ट एवं नियंत्रित किया है, और सभी धर्मों के अनुयायिओं को गिरफ्तार किया है – ईसाई, कैथोलिक, मुस्लिम, बौद्ध और अन्य। अंततः सीसीपी चाहता है कि उसके लोग आराध्य के रूप में केवल और केवल उसकी पूजा करें। सच में एक पंथ की तरह शासन।

फालुन गोंग का उत्पीड़न

फालुन गोंग, जिसे फालुन दाफा के नाम से भी जाना जाता है, “सत्यता, करुणा और सहनशीलता” के सिद्धांतों पर आधारित एक साधना है। मन और शरीर को ठीक करने में इसकी प्रभावशीलता के कारण, 1999 तक लगभग 10 करोड़ लोगों ने चीन में फालुन गोंग का अभ्यास शुरू कर दिया था। इसकी लोकप्रियता से ईर्ष्या के कारण, सीसीपी के पूर्व अध्यक्ष जियांग जेमिन ने अकेले ही फालुन गोंग के खिलाफ नरसंहार का आरम्भ कर दिया। लाखों अभ्यासी अपहरण, यातना, हत्या, और जबरन अंग निकाले जाने का शिकार हुए। दुर्भाग्य से आज भी किसी भी परिवर्तन का कोई संकेत नहीं है।

उइगर नरसंहार

2017 के बाद से, सीसीपी ने क़ानूनी प्रक्रिया के बिना गुप्त हिरासत शिविरों में दस लाख मुसलमानों (उनमें से अधिकांश उइगर) को रखा। शिनजियांग के मुसलमानों ने यातनाओं, जबरन राजनीतिक मतारोपण, एवं व्यापक निगरानी को झेला है। जनवरी 2021 में अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने घोषणा की कि अमेरिकी सरकार उइगर और चीन में रहने वाले अन्य तुर्क और मुस्लिम लोगों के खिलाफ अपराधों को आधिकारिक तौर पर एक नरसंहार के रूप में नामित करेगी, जो अमेरिकी सरकार के भीतर एक द्विदलीय निर्णय भी था।

बलपूर्वक जीवित लोगों के अंग निकालना

विश्वास करना मुश्किल है, लेकिन इस आधुनिक दिन में यह सच साबित हुआ। सीसीपी अंग प्रत्यारोपण का एक आकर्षक व्यवसाय चलाती है, जिसके मुख्य संसाधन चीन में आस्था के कैदियों से जीवित रहते निकाले गए अंग हैं , मुख्यतः फालुन गोंग अभ्यासी (जो अपने ध्यान अभ्यास के कारण आमतौर पर स्वस्थ होते हैं)। भूमिगत ईसाई, उइगर मुस्लिम, तिब्बती भी सूची में हैं। यह अनुमान है कि 2000 के बाद से, चीन में दस लाख से अधिक जानलेवा अंग प्रत्यारोपण हुए हैं।

आतंक और खून

"एक देश, दो प्रणालियों" का अंत

1997 में यूनाइटेड किंगडम द्वारा हांगकांग के हस्तांतरण के बाद सीसीपी ने वादा किया था कि हांगकांग 50 साल की स्वायत्तता का आनंद लेगा। इतिहास से पता चलता है कि सीसीपी ने कभी भी अपना वादा निभाने का इरादा नहीं रखा। 30 जून को, सीसीपी ने हांगकांग पर एक राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू किया जो राज्य के खिलाफ “विदेशी देश या बाहरी तत्वों के साथ” तोड़फोड़, अलगाव, आतंकवाद और मिलीभगत के कृत्यों का अपराधीकरण करता है, आजीवन कारावास की अधिकतम सजा के साथ। इस कानून की व्यापक रूप से विश्व नेताओं द्वारा निंदा की गई है, और इसे “एक देश, दो प्रणालियों” के लिए मृत्यु प्रमाण पत्र के रूप में देखा जाता है।

अंतहीन राजनीतिक आंदोलन

1949 में चीन पर अधिकार कर लेने के बाद, सीसीपी लंबे समय से चीन की प्राचीन भूमि और उसके लोगों पर अत्याचार कर रहा है।

ग्रेट लीप फॉरवर्ड (1958-1962) में लाखों लोगों की मृत्यु हुई, जिसमें डेढ़ से साढ़े पांच करोड़ लोगों की मौतें हुईं, जिससे महान चीनी अकाल मानव इतिहास में सबसे बड़ा हो गया।

सांस्कृतिक क्रांति (1966-1976) में लाखों लोगों की जान गई। क्षति चीनी लोगों के भौतिक जीवन तक ही सीमित नहीं थी, बल्कि 5,000 साल पुरानी शानदार संस्कृति का सम्पूर्ण विनाश भी थी।

तियानमेन मैदान नरसंहार

उन चीनी लोगों के लिए, जो बहुत “भाग्यशाली” थे कि वो 80 के दशक तक जीवित रह पाए, सीसीपी उनके अधिकारों और स्वतंत्रता पर टूट पड़ी। 1989 में तियानमेन मैदान नरसंहार ऐसे कइयों में से सिर्फ एक उदाहरण है। लोकतंत्र में परिवर्तित होने की वकालत करते हुए युवा छात्र शांतिपूर्वक तरीके से बैनर पकड़े तियानमेन मैदान में इकट्ठा हुए। निहत्थी भीड़ का जवाब सेना की गोलियों से दिया गया था, कट्टरता से बड़ी तादाद में टैंक इन युवाओं और महिलाओं की तरफ चल रहे थे … तियानमेन मैदान खून से धोया गया था।

एक बच्चा नीति

जनसंख्या नियंत्रण के नाम पर वर्ष 1979 से, सीसीपी ने चीनी लोगों के स्वतंत्र रूप से जन्म देने के अधिकारों को छीन लिया है। एक बच्चा नीति ने आधिकारिक अनुमानित रिपोर्ट के अनुसार 40 करोड़ जन्मों को रोका। दूसरे शब्दों में, ये भ्रूण दुनिया को देखने से पहले मार दिए गए थे। दूसरे बच्चे के साथ गर्भवती होने वाली महिलाओं को स्थानीय सीसीपी अधिकारियों द्वारा जबरन गर्भपात के लिए भेजा जाता था, इस बात की परवाह किए बिना कि बच्चे कब पैदा होंगे। कुछ मामलों में, वे जन्म के तुरंत बाद शिशुओं को भी मार देते थे

हाल की टिप्पणियाँ

Đồng ý kiến nghị

Quang Thắng

Hate you china bad people!

Nadirah

bad retribution to cruel people

Nadirah

공산당은 소수만 잘 사는 당

kyoung sae

Let\’s end the corrupt CCP influence over all our institutions, and stop spies from stealing intellectual property. We should expose the extreme evil and atrocities they are committing.

Eric

so unfair so the chinese community.

alexis

Acabar com o comunismo no mundo.

Allan

אני חותם על העצומה הזו כי אני מסכים

Lesomptier

send me all the information iw ould like to learn

Curtis

send me all the information iw ould like to learn

Amanda

Fuck communism

Ashleigh

天灭中共,中共不亡,中国人永无安宁,世界永无宁日。为世界之和平而灭中共!!!

가침

Scott Perry

स्कॉट पेरी

संयुक्त राज्य अमेरिका के कांग्रेसी

“मुझे लगता है कि यह एक महान संदेश है। मुझे नहीं लगता कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी स्वेच्छा से वहाँ से जाने वाली है। यह एक आपराधिक संगठन है जिसने एक देश का नियंत्रण ले लिया है। वे अपने आप से छोड़ने वाले नहीं हैं। उन्हें एक या दूसरे तरीके से बलपूर्वक अधिकार और सत्ता से बाहर निकालना पड़ेगा।”

Mike_Pompeo

माइकल आर पोम्पेओ

पूर्व राज्य सचिव

“हम चीनी कम्युनिस्ट पार्टी से खतरे को समझने के लिए दुनिया को एकजुट होते हुए देख रहे हैं।”

Shlomo Aviner

रब्बी श्लोमो अविनर

अतरेट येरुशालयिम (Ateret Yerushalayim) शैक्षिक संस्थान के प्रमुख

“हम एक दुष्ट सरकार के बारे में बात कर रहे हैं। चीनी लोग बहुत पीड़ित हैं। लाखों लोगों को दुर्व्यवहार, निर्वासन, कारावास और यहां तक कि हत्या से पीड़ा हो रही है। यह एक पार्टी नहीं है, यह एक सरकार नहीं है, यह एक आतंकवादी संगठन है, जिसने सत्तर से अधिक वर्षों से क्रूरतापूर्वक शासन किया है। । यही कारण है कि End CCP (सीसीपी का अंत) याचिका के लिए हस्ताक्षर निश्चित रूप से सही हैं।”

दशकों के दौरान, सीसीपी और उससे जुड़े संगठनों में शामिल होने के लिए चीनी लोगों के एक बड़े प्रतिशत भाग को मूर्ख बना दिया गया या उन्हें मजबूर किया गया। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी छोडो आंदोलन जिसे टुईडंग आंदोलन के नाम से भी जानते हैं, में चीनी लोग झूठ से जाग रहे हैं। वे सीसीपी छोड़ने की सार्वजनिक घोषणा कर रहे हैं।

402,482,573

चीनी लोगों ने पार्टी और उससे जुड़े संगठनों को आज की तारीख में छोड़ दिया है,
और अब दुनिया के बाकी लोगों के लिए यह समय आ गया है कि वे बुराई के खिलाफ खड़े हों और हमारी आवाज़ सुने:
दुष्ट सीसीपी को खत्म करो!

"द फ्री वर्ल्ड" ने वास्तव में कभी नहीं
साम्यवाद को हराया

प्रत्येक स्वतंत्रता-प्रेमी व्यक्ति के लिए
जरूर पढ़ने वाली पुस्तक

एक पुस्तक जिसने 30 करोड़ लोगों को प्रेरित किया है चीनी कम्युनिस्ट पार्टी को छोड़ने के लिए